लाला अमरनाथ

लाला अमरनाथ ऐसे प्रथम भारतीय क्रिकेटर हैं। जिन्होंने टेस्ट मैच में शतक लगाया था, वह भी अपने पहले मैच में। स्वतन्त्र भारत के वह पहले टैस्ट कप्तान बने। उनका पूरा नाम अमरनाथ भारद्वाज है, परन्तु वह लाला अमरनाथ नाम से ही लोकप्रिय रहे।
लाला अमरनाथ की कप्तानी में भारत ने अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीती थी। यह सीरीज़ 1952 में पाकिस्तान के विरुद्ध खेली गई थी।
लाला अमरनाथ ने गुजरात, हिन्दू, महाराजा पटियाला, रेलवे, उत्तर प्रदेश तथा भारतीय टीमों के लिए क्रिकेट खेला।
लाला अमरनाथ क्रिकेट के परिदृश्य में चर्चा में तब आए जब उन्होंने 1933 में बम्बई जिमखाना में खेलते हुए इंग्लैंड के विरुद्ध टैस्ट मैच में शानदार शतक लगाया। यह उनका पहला टेस्ट मैच था। किसी भारतीय द्वारा टैस्ट शतक लगाए जाने पर उन्होंने भारतीय खिलाड़ी की नई आक्रामक झलक प्रस्तुत की, जो कि अपारंपरिक थी। उस वक्त जब भारत के 21 पर दो खिलाड़ी आउट हो चुके थे, तब लाला अमरनाथ ने स्थिति को न सिर्फ संभाला, बल्कि टीम को अच्छी स्थिति में ले गए और 117 मिनट में 100 रन बना डाले।
लाला अमरनाथ पूर्णतया स्वतन्त्र और स्पष्टवादी व्यक्तित्व के मालिक रहे। वह अचानक और तेजी से बनाए जाने वाले रनों के लिए प्रसिद्ध रहे। 1936 में उनकी इसी स्पष्टवादिता और खुलकर बोलने के कारण उन्हें इंग्लैंड के दौरे से वापस भेज दिया गया क्योंकि उस वक्त के कप्तान के विरुद्ध उन्होंने कुछ। कह डाला था।
द्वितीय विश्वयुद्ध के कारण लाला अमरनाथ के खेलने के सबसे महत्त्वपूर्ण वर्ष । बेकार चले गए। वैसे विश्वयुद्ध के कारण अन्य क्रिकेटरों के भी दो वर्ष ख़राब हुए थे।
लाला अमरनाथ का चौथा टैस्ट उनके पहले टेस्ट से 13 वर्ष के अन्तराल पर रहा जो 1946 में इंग्लैंड में था। स्वतन्त्र भारत में वह भारतीय टीम के प्रथम कप्तान बने। 1947 में उनकी कप्तानी में आस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच खेले गए। इसके बाद लाला अमरनाथ ने विश्व की प्रथम दर्जे की टीमों के साथ खेलते हुए कुछ बेहतरीन शॉट्स देते हुए अच्छा प्रदर्शन किया।
1951-52 में इंग्लैंड के विरुद्ध खेलते हुए लाला अमरनाथ अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके। अतः अच्छी फॉर्म में न होने के कारण उन्हें कप्तानी से हाथ धोना पड़ा। 1952-53 में उन्हें पाकिस्तान के विरुद्ध सीरीज खेलने के लिए पुनः कप्तान बनाया गया और भारत यह सीरीज जीत गया।
लाला अमरनाथ ने कुल 24 टेस्ट मैच खेले, जिनमें उन्होंने 878 रन बनाए जिनका औसत 24.38 रहा। उन्होंने अपने पहले मैच में शतक भी लगाया था जो उनके रनों का सर्वाधिक स्कोर रहा। लाला अमरनाथ का 5 अगस्त, 2000 को देहान्त हो गया।

Post a Comment

0 Comments